अभी अभी :

    राजीव गुप्ता

    राजीव गुप्ता

    फ़ैजाबाद (उत्तर प्रदेश) में जन्में राजीव गुप्ता देश के उभरते युवा लेखकों में से एक हैं। स्वभाव से मिलनसार, देशाटन के लिए सदैव तत्पर तथा लेखन व वक्तृता में रूचि रखनेवाले राजीव ने दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास में ऑनर की डिग्री ली तथा इसके बाद देहरादून से मार्केटिंग एवं फाइनेंस में एमबीए की शिक्षा अर्जित की। सामाजिक कार्यों में सक्रीय राजीव सेवा भारती (दिल्ली) की ओर से झुग्गी-झोपड़ियों में रहनेवाले बच्चों के लिए अध्यापन का कार्य करते हैं।

    राजीव की अबतक तीन पुस्तकें प्रकाशित हो चुकीं हैं, जिनमें 1) संघ अछूत है क्या?, 2) घर-घर मोदी, भाग-1, तथा 3) सबसे पहले भारत, का समावेश है। वे देश के विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में नियमित लेखन करते हैं।

     

    post-1

    केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह से ग्रामीण विकास से जुड़े मुद्दों पर युवा पत्रकार राजीव गुप्ता ने बात की। अपने संक्षिप्त साक्षात्कार में उन्होंने अपने मंत्रालय के कार्य और उससे ग्रामीणों को मिलनेवाले लाभ के संबध में विस्तार ..

    post-1

    प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के निर्देश पर आखिरकार नई दिल्ली महानगर पालिका के अंतर्गत आनेवाली सड़क जिसका नाम औरंगजेब रोड था अब वह भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम रोड के नाम से जानी जाएगी। इस सड़क के नाम परिवर्तन का मुद्दा कई वर्षों ..

    विशेष31/08/2015