अभी अभी :

    ललित शर्मा 

    ललित शर्मा 

    इंटरनेट की दुनिया में ललित शर्मा, यह नाम बहुत प्रसिद्ध है। यात्रा, पक्षी, पुरातत्व, प्रकृति जैसे अनेक विषयों को गूगल पर सर्च करने जाएं तो ललित शर्मा खुद दिखाई देंगे अथवा उनके द्वारा खिंची गई तस्वीर अवश्य दिखाई देगी। अभनपुर (रायपुर, छत्तीसगढ़) के निवासी ललित शर्मा वर्तमान में न्यूज एक्सप्रेस डॉट कॉम के सम्पादक हैं।

    ग्रामीण संस्कृति, परम्परा, प्रकृति प्रेम, पुरातत्व, इतिहास तथा सामाजिक विषयों पर लेखन करनेवाले ललित शर्मा यायावर की भांति देश के दुर्गम स्थानों से लेकर ऐतिहासिक स्थलों पर जाकर वहां की जानकारी इकठ्ठा करते हैं। प्राप्त जानकारी और अपने अनुभवों को अंतर्जाल के धरातल पर प्रगट करने में उन्हें महारत हासिल है। यही कारण है कि उन्हें विभिन्न राज्यों के प्रतिष्ठित संस्थानों ने सम्मानित किया। हाथों में कैमरा लेकर अपने फोटोग्राफी के माध्यम से देश की थाती को देश और दुनिया तक पहुंचाने वाले ललित शर्मा की अनेक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकीं है, जिनमें 1) सिरपुर : सैलानी की नजर से, 2. सरगुजा का रामगढ़, 3. चमचा साधै सब सधै (व्यंग्य संग्रह) तथा 4. सुतनुका (उपन्यास) प्रमुख हैं। 

    post-1

    यह पर्व माताओं का संतान के लिए किया जानेवाला, छत्तीसगढ़ राज्य की अनूठी संस्कृति का एक ऐसा पर्व है जिसे हर वर्ग हर जाति में बहुत ही सदभावपूर्वक मनाया जाता है। हलषष्ठी को हलछठ, कमरछठ या खमरछठ भी कहा जाता है। यह पर्व भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी ..

    आस्था 03/09/2015
    post-1

    हिन्दी फ़िल्मों का भी एक जमाना था, समाज में सार्थक संदेश देने का एक प्रभावशाली माध्यम फ़िल्में ही थी। फ़िल्मी अभिनेताओं को दर्शक हाथों-हाथ लेते थे, यदि कोई धार्मिक फ़िल्मों का हीरो है तो उसे भगवान सदृश ही समझते थे। ..