बीड़ (महाराष्ट्र), जून 29 : सूर्योदय परिवार की योजनाओं का लोकार्पण तथा मानवता महाकुंभ के समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने कहा कि समाज में ऐसा वातावरण तैयार हो जहां देश का किसान अपनेआप को सुरक्षित महसूस करें। ऐसा तभी संभव है जब समाज मन में सेवा की भावना रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रकृति के विपरीत परिस्थिति का प्रखरता से सामना करनेवाला किसान आखिर आत्महत्या क्यों करता है? क्योंकि विपत्ति के समय वह खुद को अकेला पाता है। समाज उसकी मदद करने के लिए आगे नहीं आता। इसलिए समाज में सेवा धर्म का वातावरण बनना चाहिए, इसके लिए सभी को प्रयत्न करना होगा।

सरसंघचालक ने आगे कहा कि मानवता महाकुंभ जैसे माध्यमों से ही समाज में सेवाभाव का निर्माण होगा। तभी सूखा या कोई अन्य विपदा, उससे निपटा जा सकता है। डॉ.भागवत ने कहा कि अपना समाज प्राचीन है या सरकार पुरानी? आज तक देश के शासक बदलते आए हैं। देश स्वतंत्र हुआ है तब से सरकारें बदलती रहीं। लेकिन समाज तो वही है। इसलिए जो समाज स्थिर है वह इस कार्य के लिए आगे आए। विपदा आने पर शासन की सहायता की प्रतीक्षा मत करते रहो। बल्कि हम सभी एक होकर सक्षम बनना चाहिए और हमारे किसान भाइयों की सहायता करनी चाहिए।

सरसंघचालक डॉ.भागवत ने कहा कि देश के सभी क्षेत्रों में समाज की स्थिति लगभग एक जैसी है। विभिन्न जगहों पर विभिन्न कार्यों में राजनीति स्पष्ट दिखाई देती है। उन्होंने कहा कि केवल स्वयं के सुख के लिए प्रयत्न करने से क्या होगा? व्यक्तिगत सुख अस्थायी विकास होगा, वह सदा के लिए नहीं रहनेवाला। देश को विश्वगुरु बनाने के लिए ऊपरी तौर पर कार्य करने भर से काम नहीं चलेगा, वरन समाज के सभी अभावग्रस्तों को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयत्न करना होगा।  

सरसंघचालक ने कहा कि जिन्हें ख्याति की भूख नहीं है, जो प्रसिद्धि से दूर रहते हैं ऐसे सेवाभावी व्यक्ति ही जगविख्यात होते हैं। उन्होंने कहा कि यह समाज चलता-बोलता ईश्वर का रूप है। इसलिए समाज की सेवा करें। व्यक्तिगत जीवन में ईश्वर को खोजें, सार्वजनिक जीवन में लोक कल्याण का कार्य करें। संत अपने आचरण से समाज के सम्मुख धर्म का आदर्श प्रस्थापित करते हैं। हमने भी अपने स्वयं के विकास के साथ ही परमार्थ का कार्य करते रहना चाहिए। तभी हम समाज के साथ सुख की अनुभूति करेंगे।

महाराष्ट्र के बीड़ शहर में स्थित शिवाजी महाराज क्रीड़ा संकुल में संपन्न हुए इस मानवता कुंभ में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। इस समारोह में महाराष्ट्र ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे, सांसद प्रीतम मुंडे, सांसद रक्षा खडसे, मध्यप्रदेश के सांसद कुंवर हरिभाऊ सिंह, डॉ. सुभाष भांब्रे उत्तर प्रदेश के पूर्व मत्री रामकृष्ण कुशवाह, कार्तिक शर्मा, फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर, संघ पदाधिकारी दादा पवार, सूर्योदय परिवार की मुख्य प्रशासक गायिका अनुराधा पौडवाल सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे महाराष्ट्र के बीड़ शहर में स्थित शिवाजी महाराज क्रीड़ा संकुल में संपन्न हुए इस मानवता कुंभ में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।  कार्यक्रम के दौरान मराठवाड़ा क्षेत्र के अभावग्रस्त किसानों को सहायता राशि का धनादेश (चेक) तथा अन्य सामग्री का वितरण किया गया महाराष्ट्र के बीड़ शहर में स्थित शिवाजी महाराज क्रीड़ा संकुल में संपन्न हुए इस मानवता कुंभ में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।