कन्याकुमारी (तमिलनाडु), जनवरी 11 : विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी ने देश को एक और अनमोल उपहार देने की पूरी तैयारी कर ली है। कन्याकुमारी स्थित केन्द्र के मुख्यालय परिसर विवेकानन्दपुरम् में “रामायण दर्शनम् और भारतमाता मंदिर” बनकर तैयार है, जिसका उद्घाटन स्वामी विवेकानन्दजी की जयन्ती पर 12 जनवरी को होगा।

इस भव्य सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक उपहार “रामायण दर्शनम् और भारतमाता मंदिर” का उद्घाटन 12 जनवरी, 2017 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाम 5.00 बजे वीडियो कॉन्फरन्स के माध्यम से करेंगे। इस दौरान रामकथावाचक संत मोरारी बापू तथा तमिलनाडु के सड़क व परिवहन मंत्री पों. राधाकृष्णन उपस्थित रहेंगे। 

उल्लेखनीय है कि रामायण दर्शनम् वाल्मीकि रामायण पर आधारित है। मंदिर परिसर में भगवान शिव की मूर्ति है, साथ ही महावीर हनुमान की 27 फिट ऊंची मूर्ति काले ग्रेनाइट के पत्थर से बनी है। भारतमाता की पंचधातु से निर्मित 15 फिट मूर्ति बहुत ही आकर्षक है। ज्ञात हो कि 07 जनवरी से 15 जनवरी मोरारी बापू की रामकथा इस परिसर में हिंद महासागर के तट पर चल रही है।