उन्नाव, जनवरी 11: मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद से कालाधान धारको के हौसले हार मानने लगे है। यही कारण है की भ्रष्टाचार और कर चोरी से जुटाकर वर्षो से घर में जमा किए गए पैसो को सड़कों और कूड़ेदान में फेका जा रहा है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद उन्नाव का है जहां हाईवे के पास पुलिस ने बुधवार को 500-1000 के पुराने नोटों से भरे चार बोरे बरामद किए हैं।जानकारी के मुताबिक जनपद के मदारनगर गांव से गुजरी हाइवे के जंगल की झाड़ियों में दो बोरों में भरे 500-1000 के पुराने नोटों के मिलने की जानकारी पर उसे देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। वहीं 2 बोरे जनपद के मरी कंपनी गंजमुरादाबाद में पड़े मिले। जिसकी सूचना ग्रमीणों ने पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना पाकर सम्बंधित थाना पुलिस मौके से पहुंच गई।

पुलिस ने कटे पुराने नोटों से भरे चार बोरों को अपने कब्जे में लेकर ग्रामीणों से पूछताछ शुरू कर दी, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। थानाप्रभारी ने बताया कि पुलिस ने पुराने कटे नोट बरामद किया है, इसे यहां पर कौन लाया उस युवक की तलाश की जा रही है।

जांच अधिकारी इसे नोटबंदी और जाली नोटों के कारोबार से जोड़कर देख रहे है और मामले की जांच पड़ताल कर रही है। हालांकि, अबतक नोटों की अनुमानित कीमत का अंदाजा नहीं लग सका है। पुलिस ने मामले की रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को भेज रही है। पुलिस ने बोरों की विडियोग्राफी करवाकर रिपोर्ट आरबीआई को भेज दिया है।