रायपुर, जनवरी 12: स्वामी विवेकानंद की जयंती पर भारतीय संस्कृति की अद्भुत विरासत ‘योग’ में गुरुवार सुबह पांच विश्व रिकॉर्ड बनें। पतंजलि योग शक्तिपीठ एवं योग गुरू बाबा रामदेव के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ के भिलाई में 1 लाख लोगों ने यह कीर्तिमान बनाया है। इसअवसर पर शिविर में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के साथ-साथ कई शीर्ष मंत्रिमंडल के मंत्री और अनेक जनप्रतिनिधि मौजूद थे।सुबह शुरू हुये योग शिविर में 1 लाख से अधिक साधकों ने योग अभ्यास किया। इनमें सूर्य नमस्कार, कपालभाति, अनुलोम-विलोम, पुशअप, शीर्षासन में विश्व कीर्तिमान बने हैं। रोहतास चौधरी ने विश्व कीर्तिमान बनाते हुए 19 मिनट 20 सेकंड, 12 मिनीसेकंड में 1 हजार पुशअप कर विश्व रेकॉर्ड बनाया है। इसी तरह जयपाल ने 2 घण्टे 20 मिनट तक बिना किसी ब्रेक के शीर्षासन कर विश्व कीर्तिमान बनाया है। योग शिविर में मंच पर दिव्यांग ने पैर से योग कर सभी का दिल जीता। दोनों हाथ नहीं होने तथा सुनने, बोलने में असमर्थ होने के बाद भी योग के प्रति उनका लगन और उत्साह देखने लायक था।Embeded Objectवहीं मुख्यमंत्री रमन सिंह ने योग गुरू बाबा रामदेव सहित बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों और नागरिकों के साथ योग अभ्यास किया। लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ में योग शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य योग आयोग बनाने की भी घोषणा की। उन्होने कहा कि यह आयोग इस वर्ष एक अप्रैल से काम करना शुरू कर देगा। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत और स्कूल स्तर तक योगक्रिया और योग शिक्षा के विस्तार में यह आयोग महत्वपूर्ण योगदान देगा। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ में पतंजलि योगपीठ द्वारा फूड प्रसंस्करण उद्योग लगाने के फैसले का स्वागत किया और राज्य सरकार की ओर से हरसंभव सहयोग देने का भरोसा दिया।Embeded Objectइससे पहले 2016 में मध्यप्रदेश में 50 हजार लोगों ने सूर्य नमस्कार कर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज करवाया था जिसे गुरूवार को भिलाई में तोड़ दिया गया। बाबा रामदेव के योग शिविर के दौरान पांच वर्ल्ड रिकॉर्ड के कीर्तिमान को चेक करने के लिए गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के एशिया हेड डॉ मनीष विश्नोई, नेशनल हेड आलोक कुमार, स्टेट हेड पवन केसवानी मौजूद रहे।