चंडीगढ़, जनवरी 12: दो दिवसीय प्रवासी हरियाणा दिवस कार्यक्रम के दौरान 20 हजार करोड़ से अधिक के निवेश के लिए 24 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर हुए हैं। जिससे प्रदेश में लगभग 43 हजार नयी नौकरियों की उत्पत्ति होगी। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसकी जानकारी देते हुये कहा की प्रवासी हरियाणा दिवस पूर्ण रूप से सफल रहा। सरकार ने इसका आयोजन का प्रवासी हरियाणावासियों को निवेश के माध्यम से जड़ो से जोडऩा हैं और उनके मूल स्थान के विकास को करवाना है।मुख्यमंत्री ने कहा कि इसदौरान लगभग 20 हजार करोड़ रुपए के 24 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रवासी हरियाणा दिवस में 33 देशों के 400 से अधिक एनआरआई, 300 से अधिक देश के अन्य राज्यों में प्रवास कर रहे हरियाणावासी और उद्योगों व मीडिया से जुड़े अन्य लोगों को मिलाकर लगभग 1500 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।Embeded ObjectEmbeded Objectउन्होंने कहा कि 23 प्रवासी हरियाणावासियों ने अपने गांव के अनुसार 17 करोड़ रुपए के निवेश की इच्छा जताई है। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के दौरान पांच सैक्टोरल सैशन भी आयोजित किए गए जिनमें आईटी, इलैक्ट्रोनिक्स, पर्यटन, स्वास्थ्य देखभाल और इन्फ्रास्ट्रक्चर शामिल है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के दौरान जो भी सुझाव आए हैं उनका उपयोग हरियाणा के हित में किया जाएगा।Embeded ObjectEmbeded Objectउन्होंने कहा कि प्रवासी हरियाणा दिवस के दौरान बीटूबी और बीटूजी की बैठकें भी आयोजित की गई जिनमें केन्द्र व राज्य सरकार के मंत्री और उन्होंने स्वयं भी शिरकत की। इन बैठकों में 40 कपंनियों के 150 प्रतिभागियों ने भाग लिया। पत्रकार द्वारा समझौता ज्ञापनों के संबंध में पूछे गए प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष हुए हैपनिंग हरियाणा ग्लोबल इन्वेस्टर्स सम्मिट के दौरान लगभग 360 समझौते हुए थे जिनमें 100 से अधिक समझौतों पर कार्य शुरू किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इनमें एक लाख करोड़ रुपए का निवेश होने की संभावना है।