नई दिल्ली, जनवरी 16 : आनेवाले 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुस्लिम समुदाय की भागीदारी बढ़ाने के लिए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने जोर-शोर से काम करना शुरू कर दिया है। मंच के अखिल भारतीय संयोजक मोहम्मद अफजाल ने कहा है कि उन्होंने इसके लिए एक व्यापक अभियान की योजना बनायी है। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत देश में कुल 10 हजार जगहों पर तिरंगा फहराया जाएगा। अभियान में मदरसों के अलावा मुस्लिम मोहल्लों और विद्यालयों को भी शामिल किया गया है।

राजनीतिक दलों द्वारा हर बार मुसलमानों को केवल वोट बैंक की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए इस तरह के राष्ट्रीय पर्व में उनकी भागीदारी नहीं हो सकी। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के अखिल भारतीय संगठन संयोजक गिरीश जुयाल ने कहा है कि जब हम यह मानते हैं कि हम सब एक धारा के लोग हैं, हमारे पूर्वक एक हैं तो हम एक देश का ही हिस्सा हैं। ऐसे में जब बाकी समुदायों के लोग और स्कूलों में गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहराया जाता है तो मदरसों में क्यों नहीं फहराया जा सकता? हमारा पूरा फोकस इस बात पर है कि मुसलमानों में भी भारतमाता के प्रति जज्बात पैदा हो और वो भी देश के लिए की गई क्रांतिवीरों की कुबार्नियों को साझा तौर पर याद करें।