गुवाहाटी, जनवरी 17: पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने असम व पूर्वोत्तर के लोगों को पूर्वी भारत के प्रमुख तीर्थ स्थलों का भ्रमण कराने के लिहाज से टूरिस्ट ट्रेन चलाने का फैसला किया है। यह ट्रेन गुवाहाटी से चलेगी। यह ट्रेन पूर्वी भारत के प्रमुख तीर्थ स्थलों का काफी किफायती दर पर दर्शन कराएगी। उल्लेखनीय है कि पहली बार पर्यटकों को समर्पित विशेष टूरिस्ट ट्रेन को चलाने का पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने निर्णय लिया है।सूत्रों के अनुसार सभी सुविधाओं से युक्त विशेष टूरिस्ट ट्रेन आगामी 17 फरवरी को गुवाहाटी से रवाना होगी। यह ट्रेन पूर्वी भारत के प्रमुख तीर्थ स्थल जैसे गांगा सागर, श्री स्वामी नारायण मंदिर, कालीघाट, कोलकाता स्थित बिड़ला मंदिर, श्री जगन्नाथ मंदिर एवं पुरी के कोणार्क मंदिर एवं भुवनेश्वर के लिंगराज मंदिर शामिल हैं। छह रातों का सफर गुवाहाटी से आरंभ होकर गुवाहाटी पहुंचने के बाद संपन्न होगा। इस ट्रेन में सफर करे वाले प्रति यात्री का किराया 6,161 रुपए निर्धारित किया गया है।

रेलवे ने बताया है कि ऐसी एक ट्रेन असम व उसके पड़ोसी राज्यों के तीर्थ स्थलों का दर्शन कराने के बारे में भी पूसी रेलवे चलाने पर विचार कर रही है। ऐसी ट्रेनों को चलाने के पीछे का उद्देश्य असम के पर्यटन को बढ़ावा देना शामिल है। इसको लेकर पूर्वोत्तर सीमा रेलवे काफी तेजी से काम कर रही है।

वहीं पूर्वोत्तर सीमा रेलवे के दार्जलिंग हिल सेक्शन में चलने वाली ट्वाय ट्रेन के विकास और रखरखाव के मुद्दे पर आगामी 19 जनवरी से दार्जलिंग में रेलवे मंत्रालय द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। हेरिटेज साइड में शुमार दार्जलिंग रेलवे लाइन को और अधिक विकसित करने को लेकर कार्यक्रम में विस्तार से चर्चा की जाएगी।