नई दिल्ली, जनवरी 18 : केन्द्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू फिल्म 'दंगल' में गीता फोगाट की किशोरावस्था का रोल निभाकर मशहूर हुई अभिनेत्री व 16 वर्षीय कश्मीरी लड़की जायरा वसीम के समर्थम में आगे आए। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मिलने पर जायारा अलगाववादियों और अन्य लोगों के निशाने पर आ गयी थी। जायरा को सोशल मीडिया पर धमकी मिलने और फिर माफी मांगने के बाद जायरा के समर्थन में काफी लोग आगे आए हैं।

भारतीय जन संचार संस्थान (IIMC) के एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू  ने आश्चर्य प्रकट करते हुए पूछा कि लिबरल (उदार मतवादी) इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं। नायडू ने कहा, “अपने राज्य की मुख्यमंत्री से मिलने के लिए उसे (जायरा) माफी क्यों मांगनी पड़ी? सभी इस मुद्दे पर मूक क्यों हैं? तथाकथित अति उदारवादी कहां हैं?”

नायडू ने कहा कि घटना स्पष्ट तौर पर छद्म उदारवादियों से जुड़ी विडंबना को दिखाती है, जो इससे पहले ‘असहिष्णुता’ के कथित तौर पर बढ़ने को लेकर खुलकर बोल रहे थे।

जायरा को सोशल मीडिया पर भी काफी समर्थन मिल रहा है। दंगल के मुख्य अभिनेता आमिर खान ने भी जायरा का समर्थन करते हुए ट्विटर पर कहा, “मैंने जायरा का बयान पढ़ा और मैं समझ सकता हूं कि उसने किस हालात में ये सब लिखा होगा। जायरा... मैं तुम्हें बताना चाहता हूं कि हम सब तुम्हारे साथ हैं। अच्छी बात यह है कि तुम जैसे बुद्धिमान, युवा, प्रतिभावान, मेहनती, सम्मानजनक, दूसरों का ख्याल रखने वाले और हिम्मती बच्चे, सिर्फ भारत में ही नहीं, दुनियाभर के बच्चों के लिए रोल मॉडल हैं। तुम तो मेरी भी रोल मॉडल हो।”

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी जायरा के विरोध पर हैरानी जताते हुए कहा कि हम किस तरफ जा रहे हैं, ये ठीक नहीं है। आपको बता दें कि कश्मीरी अदाकारा जायरा वसीम ने सोमवार को फेसबुक पर एक माफीनामा पोस्ट किया है। अपने लंबे माफीनामें में उन्होंने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात पर मांगी है। जायरा ने शनिवार को मुफ्ती से मुलाकात की थी। जिसके बाद उनको ट्विटर और फेसबुक पर भला-बुरा कहा गया।