नई दिल्ली, जनवरी 2: दिल्ली में सत्तारूढ़ केजरीवाल सरकार आगामी 14 फरवरी को अपने कार्यकाल के दो साल पूरे कर लेगी। इसकी रिपोर्ट सरकार द्वारा जनता के बीच पेश की जाएगी। जानकारों के मुताबिक दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले जनता में अपनी पैठ को मजबूत करने के लिए आम आदमी पार्टी के पास यह अच्छा मौका है|
इसलिए सरकार के पूरे या अधूरे पड़े कामों का ब्यौरा जनता के बीच पेश करने की तैयारी शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, इसके लिए सरकार के सूचना एवं प्रचार निदेशालय दो साल के कामों की पुस्तिका जारी करेगा।

साथ ही सरकार के मंत्री भी अपने विभागों का रिपोर्ट कार्ड सीधे जनता के बीच पेश करेंगे। इस बाबत मुख्यमंत्री कार्यालय ने सभी विभागों से पिछले एक साल में पूरे किए गए कामों की सूची दो सप्ताह के भीतर सौंपने को कहा है।

हालांकि सरकार का दूसरा साल पूरा होने के कार्यक्रम की अंतिम रूपरेखा विभागों से रिपोर्ट कार्ड मिलने के बाद ही तय होगी। हालांकि केजरीवाल सरकार ऐसा पहली बार नहीं कर रही है। पिछले साल भी सरकार का एक साल पूरा होने पर केजरीवाल सरकार ने जनता के बीच अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया था। इसे एक साल बेमिसाल के तौर पर पेश किया गया था।

इसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित सभी मंत्रियों ने अपने कामकाज का ब्योरा जनसभाओं और अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से पेश किया था। इसके साथ ही 100 दिन के काम काज का हिसाब देने के लिए दिल्ली की कैबिनेट के कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क में आयोजित किया गया था।

सत्रों के मुताबिक इस बार केजरीवाल सरकार दूसरे साल में पूरे नहीं हो सके कामों की हकीकत से भी जनता को रूबरू कराएगी। इसमें मोहल्ला क्लीनिक, स्कूल इमारतें, फ्री वाई-फाई और सड़क परियोजनाओं जैसे लंबित कामों के अधूरे रहने की वजह से जनता को अवगत कराया जाएगा। वहीं पाइप लाइन प्रोजेक्ट्स को भी दिल्ली की जनता के बीच रखा जाएगा।