बालासोर, जनवरी 2: अब्दुल कलाम द्वीप से परमाणु हथि‍यारों को ले जाने में सक्षम मिसाइल अग्नि-4 का सफल परीक्षण किया गया। 4000 किमी रेंज में सतह से सतह तक मारने में सक्षम स्वदेशी मिसाइल का सोमवार को सुबह 11.50 मिनट पर परीक्षण हुआ।

डीआरडीओ के अनुसार सतह से सतह पर मार करने वाला यह प्रक्षेपास्त्र 4000 किमी रेंज में मार कर सकता है। परमाणु क्षमता वाली इस प्रक्षेपास्त्र की लंबाई 20 मीटर है तथा इसका वजन 17 टन है। अग्नि-4 मिसाइल में पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर लगे हैं। इसकी आधुनिकतम विशेषताएं उड़ान के दौरान होने वाले अवरोधों के दौरान खुद को ठीक एवं दिशानिर्देशित कर सकती हैं। इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बनाया है। इस मिसाइल का पहला परीक्षण 15 नवंबर 2011 को हुआ था।Embeded Objectगौरतलब है कि गत 26 दिसम्बर को 6000 किलोमीटर तक हमला करने में सक्षम अग्नि–5 का सफल परीक्षण किया गया था। अग्नि-5 की जद में पाकिस्तान, चीन और यूरोप समेत लगभग आधी दुनिया आती है। अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन के बाद भारत इंटरकॉन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल बनाने वाला 5वां देश है। अग्नि-5 का ये चौथा परीक्षण है। पहली बार 2012 में इस मिसाइल का परीक्षण किया गया था।

‘अग्नि’ की मारक क्षमता:

- अग्नि 1: 700 किमी

- अग्नि 2: 2000 किमी

- अग्नि 3: 2500-3500 किमी

- अग्नि-4: 4000 किमी

- अग्नि 5: 5000 किमी