मुंबई, जनवरी 24: फिल्म ‘कुंग फू योगा’ का प्रचार करने भारत आए मार्शल आर्ट-कुंग फू एक्सपर्ट और प्रसिद्ध अभिनेता जैकी चैन ने अपने प्रशंसको को अपनी प्रेरणा का स्रोत बताया है। फिल्म जगत में 56 साल तक सफलता का परचम फहराने वाले अभिनेता जैकी चैन का कहना है कि वह पुरस्कारों के लिए काम नहीं करते और उनकी एकमात्र प्रेरणा उनके प्रशंसक हैं।

एक्शन किंग ने कहा कि चाहे नतीजे जो भी हों वह पूरी लगन से काम करते रहेंगे। जैकी ने पत्रकारों से कहा, मैं जब फिल्म बनाता हूं या उसमें काम करता हूं तो पुरस्कार या किसी अन्य चीज के बारे नहीं सोचता। ‘कुंग फू योगा’ भारत-चीन के एक साझा प्रोडक्शन में बनी फिल्म है। इसमें जैकी चैन के अलावा बॉलीवुड कलाकार सोनू सूद, दिशा पटानी और अमायरा दस्तूर भी हैं।

उन्होने कहा, मेरी फिल्म को एक ओछी एक्शन-कॉमेडी के तौर पर देखा जाता था। मैं इसकी परवाह नहीं करता, मैं पुरस्कारों के लिए नहीं बल्कि दर्शकों के लिए हूं। यहां तक की मेरी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा काम करें या नहीं, चाहे लोग मेरी फिल्में देखें या नहीं, मैं हमेशा हर फिल्म के लिए अपनी जान जोखिम में डालने का तत्पर रहूंगा।

उन्होंने कहा, सबने देखा कि मैं 56 साल में नहीं बदला। मैंने अपना काम वैसे ही जारी रखा इसलिए ही उन्होंने मुझे ऑस्कर देने का निर्णय लिया। मुझे लगता है कि हर किसी को अपना श्रेष्ठ देते रहना चाहिए। ऑस्कर मेरे पास आया, मैं ऑस्कर के पास नहीं गया। बता दें की वर्ष 2016 में आठवें वाषिर्क गवर्नर्स अवार्डस में 62 वर्षीय अभिनेता को प्रतिष्ठित ऑस्कर से सम्मानित किया गया था।