नई दिल्ली, जनवरी 5: नोटबंदी के बावजूद दूसरी तिमाही में कंपनियों का मुनाफा बढ़ा है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के मुताबिक निजी क्षेत्र की सूचीबद्ध कम्पनियों ने इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में अच्‍छा मुनाफा कमाया है। आरबीआई के मुताबिक क्षेत्रवार, विनिर्माण क्षेत्र ने उंची शुद्ध लाभ वृद्धि दर्ज की जबकि सेवा (गैर आईटी) क्षेत्र के मुनाफे में संकुचन देखने को मिला।पहली तिमाही में 11 दशमलव 2 प्रतिशत की तुलना में दूसरी तिमाही में इन कम्पनियों के शुद्ध मुनाफे में 16 प्रतिशत की वृद्धि हुई। शुद्ध मुनाफे में वृद्धि के मामले में विनिर्माण उद्योग पहले स्थान पर रहा, जबकि सूचना प्रौद्योगिकी को छोड़ कर सेवाओं से जुड़े उद्योगों के शुद्ध लाभ में गिरावट देखी गई।

रिजर्व बैंक ने कहा कि गैर-सरकारी, गैर-वित्तीय सूचीबद्ध कम्पनियों की बिक्री में 2016-17 की दूसरी तिमाही में एक दशमलव नौ प्रतिशत वृद्धि हुई, जो पहली तिमाही में लगभग स्थिर बनी हुई थी। रिजर्व बैंक के ये आंकड़े 2016-2017 की दूसरी तिमाही के लिए गैर-सरकारी, गैर-वित्तीय सूचीबद्ध दो हजार सात सौ दो कम्पनियों के संक्षिप्त वित्तीय परिणामों पर आधारित हैं।Embeded Objectवहीं भारत ने वर्ष 2016-17 की पहली छमाही में 84 अरब पन्द्रह करोड़ सत्तानवे लाख रूपये के मसालों का निर्यात किया जो मूल्य के हिसाब से पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में सात प्रतिशत अधिक है। मसालों में सर्वाधिक निर्यात लाल मिर्च का किया गया।