श्रीनगर, जनवरी 6: जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर स्थित बुड़गाम जिले के मुचवा क्षेत्र में शुक्रवार को हुई मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष आतंकी मुजफ्फर इकबाल नेको अका मुज्जे मौलवी को मार गिराया। हालांकि, इस मुठभेड़ दौरान पुलिस का एक जवान भी घायल हुआ। 
जानकारी के अनुसार, सुरक्षाबलों को गुप्त सूचना मिली थी कि मुचवा क्षेत्र में पिछले कई सालों से सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी मुजफ्फर इकबाल बुड़गाम जिले में छिपा हुआ है। जिसके बाद सेना व पुलिस की टीम ने संयुक्त रूप से तलाशी अभियान चलाया। तलाशी अभियान के दौरान दोनों ओर से जबर्दस्त गोलीबारी हुई, जिसमें दुर्दांत आतंकी को मार गिराया गया।

बता दे कि आतंकी इकबाल कश्मीर घाटी में पिछले कई सालों से सक्रिय था और लश्करे तौयबा के उच्च कमांडरों अब्दुल्ला उनी व क्यूम नाजर से उसके करीबी संबंध थे। मुजफ्फर ए++ श्रेणी का आतंकी था। पुलिस के मुताबिक, 'इलाके में तलाशी अभियान अभी जारी है।' पुलिस का कहना है कि मारा गया लश्कर कमांडर जम्मू एवं कश्मीर में सर्वाधिक वांछित आतंकवादी था।

Embeded Objectगौरतलब है कि इसी हफ्ते कि 4 तारीख को भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर की पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर लश्कर-ए-तैयबा के ही एक आतंकी आशिक अहमद को हंदवारा से गिरफ्तार किया था। उल्लेखनीय है कि यह सभी आतंकी जो भी भारत में मारे जाते है या पकड़े जाते है सभी पाकिस्तान से आए हुए है। पाकिस्तान की सरकार इन्हे भारत में दहशतगर्दी फैलाने हेतु बढ़ावा देती है। भारतीय सुरक्षाबलों ने वर्ष 2016 में केवल जम्मू-कश्मीर में ही 141 आतंकियों को ढेर किया है जबकि 20 से ज्यादा आतंकियों को गिरफ्तार किया है।