नई दिल्ली, जनवरी 9: कांग्रेस ने पंजाब विधानसभा के लिए सोमवार को अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। बता दे कि इस चुनावी घोषणा पत्र की खूबी यह है कि इसे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जारी किया है। घोषणा पत्र में यह स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि पंजाब को अमरिंदर सिंह के नेतृत्व की सख्त जरूरत है ताकि पिछली सरकार ने 10 सालों में जो बिगाड़ा है उसे सही किया जा सके।
घोषणा पत्र जारी करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि इसमे पंजाब की बेहतरी के मुद्दे हैं। उन्होने कहा कि पंजाब अनंत संभावनाओं से भरा राज्य है लेकिन यहां फैली अव्यवस्था के कारण कई संभावनाओं पर गौर ही नहीं किया गया है। घोषणापत्र में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण का वादा किया गया है। पंजाब का पानी पंजाब के लिए, चार हफ्ते में नशीले व्यापार का सफाया जैसे बड़े वादे किए गए हैं। बेघरों के लिए घर देने और घर-घर रोजगार देने का भी वादा किया गया है।

Embeded Objectमुख्यालय पर पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह और पार्टी महासचिव अंबिका सोनी, पंजाब प्रभारी आशा कुमारी, प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, राजिंदर कौर भट्टल समेत पंजाब के सभी नेताओं की मौजूदगी में इस घोषणापत्र को जारी किया गया है। दिल्ली के अलावा पार्टी ने चंडीगढ़ और पंजाब में भी बड़े नेताओं से घोषणा पत्र जारी कराने की योजना बनाई है।

पार्टी की घोषणा पत्र कमेटी ने पहले तमाम वर्गों से बातचीत करके उनकी राय ली। इसके साथ ही कई विशेषज्ञों की भी राय ली गई और उसके बाद ही पार्टी ने घोषणापत्र का ऐलान किया। इसमें पंजाब के प्रमुख मुद्दे तो हैं ही, साथ ही सभी वर्गों को संतुष्ट करने की कोशिश भी की गई है।