नई दिल्ली, जनवरी 09 : मुलायम सिंह यादव ने आज चुनाव आयोग से कहा कि मैं ही खुद को समाजवादी पार्टी का अध्यक्ष हूं। उन्होंने यह भी कहा कि अखिलेश यादव खेमे द्वारा आयोजित अधिवेशन ‘असंवैधानिक’ था और पार्टी का चुनाव चिन्ह ‘साइकिल’ उनके खेमे के पास रहना चाहिए। मुलायम यहां अमर सिंह और शिवपाल सिंह यादव के साथ आयोग पहुंचे थे।

मुलायम ने अपने बेटे और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व वाले पार्टी के धड़े की ओर से जमा किये गये पार्टी नेताओं के हलफनामों को चुनौती दी और आरोप लगाया कि वे फर्जी हैं। उन्होंने आयोग से इन हलफनामों का सत्यापन कराने को कहा।

मुलायम ने यह भी कहा कि अधिवेशन में अखिलेश को पार्टी अध्यक्ष नियुक्त करने और उन्हें संरक्षक बनाने का प्रस्ताव पारित हुआ था लेकिन उन्हें पार्टी अध्यक्ष के पद से हटाने का कोई प्रस्ताव नहीं आया था। मुलायम सिंह यादव ने रामगोपाल यादव पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बहकाने का आरोप लगाया। रामगोपाल यादव का नाम लिए बगैर मुलायम सिंह यादव ने कहा कि एक आदमी ने मेरे बेटे को बहका दिया है।

पार्टी सूत्रों ने कहा कि मुलायम ने चुनाव आयोग से यह भी कहा कि जिस अधिवेशन में अखिलेश को पार्टी अध्यक्ष बनाया गया था, उसे बुलाने वाले रामगोपाल यादव को उससे पहले पार्टी से निकाल दिया गया था और इसलिए सपा के विधान के मुताबिक सम्मेलन असंवैधानिक था।